Home Blog

WordPress vs Blogger in Hindi : ब्लॉगिंग के लिए कौनसा प्लेटफार्म चुने

0

WordPress vs Blogger in Hindi- जब बात ब्लॉगिंग की आती है तो सबके मन में एक सिम्पल सवाल होता है ब्लॉग बनाने के लिए कोनसा प्लेटफॉर्म बेस्ट है? जहा हम आसानी से अपने वेबसाइट को कन्ट्रोल कर सके कंटेंट लिख सके आदि। वैसे तो इंटरनेट पर ब्लॉग्गिंग के लिए बहुत सारे प्लेटफॉर्म Available है,जैसे-Blogger, WordPress, Wix, Weebly, Tumbler आदि। पर सबका सवाल ये होता है कोनसा प्लेटफॉर्म हमारे लिए बेस्ट है? WordPress vs Blogger in Hindi .

सबसे ज्यादा पॉपुलर तथा बेस्ट ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म बात करे तो WordPress और Blogger प्लेटफॉर्म है, जिनको ब्लॉगर सबसे ज्यादा बेस्ट मानते है। पर नए ब्लॉगर इस बात को लेकर confused रहते है की इन दोनों Blogging Platform में से उनके लिए बेस्ट कौनसा है।

blogger vs wordpress in hindi

ब्लॉगिंग के शुरुआती तौर पर बहुत से नए ब्लॉगर Blogger(Blogspot) प्लेटफार्म का इस्तेमाल करते है। क्योकि यह प्लेटफार्म बहुत सिम्पल है जो ब्लॉगर ब्लॉगिंग के बारे में बहुत कम जानते है तथा फ्री में वेबसाइट बनाना चाहते है उन ब्लॉगर के लिए यह प्लेटफार्म Perfect है। तथा बाद में आपको ब्लॉगिंग के बारे में आपको नॉलेज हो जाता है तो बाद में आप अपनी वेबसाइट को Blogger से wordpress पर Transfer कर सकते हो।

और wordpress की बात करे तो इसमें आपको 2 Version मिलते है एक WordPress.com जो फ्री ब्लॉगिंग प्लेटफार्म है तथा दूसरा WordPress.org जिसके लिए आपको पैसे देने पड़ते है इसके लिए आपको डोमेन तथा होस्टिंग को खरीदना पड़ता है। यदि आप नए ब्लॉगर है तथा अपना फ्री वेबसाइट बनाना चाहते है तो में आपको Recommend करुगा की आप WordPress.com की बजाय Blogger प्लेटफार्म को चुने।

WordPress vs Blogger कौनसा प्लेटफार्म ब्लॉगिंग के लिए बेस्ट है-

यहा पर हम Blogger.com तथा WordPress.org के बारे में बात करेंगे। इस पोस्ट में हम Blogger तथा WordPress.org के बीच compression करके देखगे की किस Condition में कोनसे प्लेटफार्म को चूज करना चाहिए।

Blogger Quick Compare-

यदि आप ब्लॉगिंग स्टार्ट करना चाहते है तो Blogger.com आपके लिए बहुत Useful प्लेटफार्म है। यहा पर आप Free में Blog बना सकते है तथा ब्लॉगिंग के बारे में सिख सकते है इसमें आपको Technical Knowledge की आवश्यकता नहीं होती है। Blogger में Extra Plagins तथा Faction ऐड  Limitation होती है। यदि आप सिम्पल ब्लॉग बनाना चाहते है और अपने विचार लोगो के साथ शेयर करना चाहते या आप ब्लॉगिंग फिल्ड में नए है तो आपके लिए Blogger बेस्ट प्लेटफार्म है। और यदि आप ब्लॉगिंग पैसे कमाने, Fame, या Branding के लिए करते है तो Blogger आपके लिए सही चॉइस नहीं है।

अक्सर मैंने बहुत बार सुना है की Blogger Google का प्लेटफार्म होने के कारण इसमें SEO Visibility अच्छी होती है, Google Adsence अप्रूवल जल्दी मिल जाता है, पोस्ट जल्दी रेंक करती है आदि तो आपको बता दे ऐसा कुछ नहीं है ये प्योर अफवा है। इन सब के लिए ये मेटर नहीं करता की आप कोनसा प्लेटफार्म यूज कर रहे हो।

 

 

WordPress Quick Compare-

इस पोस्ट में हम WordPress.org की बात कर रहे है ना की WordPress.com की। WordPress एक Open Sourse Software है। WordPress.org पर वेबसाइट बनाने के लिए आपको Hosting तथा Domain की जरूरत पड़ती है जिसके लिए आपको पैसे Pay करने पड़ते है। WordPress में आपको फुल कन्ट्रोल मिलता है आप Technicaly अपने वेबसाइट के साथ कुछ भी कर सकते है। तथा अपने वेबसाइट को फुल्ली मैनेज कर सकते है। WordPress पर आपको हजारो plugins मिल जायेगे जिनकी मदद से आप साइट का Seo, Security, तथा Manage कर सकते है।

यदि आप बिजनेस, पैसे कमाने तथा ब्राण्ड के नाम से वेबसाइट बनाना चाहते है या आपको लगता है की भविष्य में आपकी साइट के लिए एडवांस लेवल के सॉफ्टवेयर की जरूरत पड़ सकती है तो Self Hosted WordPress.org आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है।

Important Point to Decide Best Blogging Platform-

यहा पर हमने कुछ मैन पोइन्ट को ध्यान में रखते हुवे wordpress तथा blogger के बीच compare किया है। जिनकी मदद से आप बेस्ट ब्लॉगिंग प्लेटफार्म का चयन कर सकते है।

1- Control-

Blogger- Blogger.com गूगल की ही फ्री सर्विस है जहा पर हम फ्री वेबसाइट बना सकते है। नए ब्लॉगर के लिए Blogger.com पर ब्लॉग बनाना बहुत आसान है। Blogger पर लिमिट के Maneging Tools आते है जिनकी मदद से आप आसानी से ब्लॉग को मैनेज कर सकते है। यदि आप अपने हिसाब से कुछ Extra Tool ऐड करना चाहते है तो यह संभव नहीं है। Blogger पर आपको सिम्पल लेवल के टूल मिलते है जिनसे आपको काम चलाना पड़ता है इन टूल के अलावा टूल ऐड नहीं कर सकते है। यदि आप ब्लॉगिंग में नए हो तो Blogger.com आपके लिए बेस्ट प्लेटफार्म है।

WordPress- WordPress.org एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है, जिसमे हम नए फीचर और टूल्स को आसानी से ऐड कर सकते है। WordPress.org में हम अपने अनुसार टूल्स तथा Plugins का यूज कर सकते है। WordPress में आपको हजारो एडवांस लेवल के प्लगिंग मिल जाते है जिनका यूज करके आप वेबसाइट को बिना कोडिंग के प्रोफेशनल बना सकते हो। किसी कंपनी, business, तथा long term वेबसाइट के लिए WordPress.org बेस्ट ऑप्शन है।

2- Security-

Blogger- Blogger पर हम जो भी वेबसाइट बनाते है वो वेबसाइट गूगल के सर्वर में होस्ट होती है। और गूगल के सर्वर सिक्योर तथा सेफ होते है, इसलिए वेबसाइट को सुरक्षित करने बैकअप बनाने की कोई चिंता नहीं होती है। और आपके साइट पर कितना भी ट्रैफिक आ जाये आपके वेबसाइट की स्पीड Slow नहीं होगी।

WordPress- WordPress.org भी काफी सिक्योर है लेकिन यह स्व होस्टेड सर्वर होता है, इसलिए वेबसाइट की सिक्योरिटी का आपको खुद को ध्यान रखना पड़ता है। WordPress पर वेबसाइट की सिक्योरिटी के लिए आप plugins का यूज कर सकते है तथा सिक्योरिटी को बढ़ा सकते है। यदि आपके साइट पर ट्रैफिक ज्यादा है और आपने लिमिटेड रिसोर्स वाली होस्टिंग ली है तो इससे आपकी साइट Down हो सकती है। ज्यादा ट्रैफिक के लिए आपको पॉवरफुल सर्वर लेना पड़ेगा।

3- Future & Website Designing- 

Blogger-Blogger पर आपको Blogger By Defult ऑप्शन ही मिलते है, आप एक्स्ट्रा ऑप्शन ऐड नहीं कर सकते है। और वेबसाइट डिजाइनिंग की बात करे तो इसमें बहुत ही कम प्रोफेशनल थीम मिलती है। आप वेबसाइट डिज़ाइन के लिए thired party थीम का इस्तेमाल कर सकते हो। ब्लॉगर में वेबसाइट को अपने हिसाब से डिज़ाइन करना बहुत मुश्किल है।

WordPress- WordPress की बात करे तो इसमें आपको सभी प्रकार के Free तथा Premium Looking Theme मिल जायेगे। तथा इन्हे आप प्लगिंग की मदद से आसानी से कस्टमाइज कर सकते है। यदि आपको बिजनेस, कंपनी, ई-कॉमर्स आदि के लिए फ्री या पेड थीम का यूज करके प्रोफेशनल लुक दे सकते हो।

4- SEO (Search Engine Optimization)-

Blogger- SEO आपके साइड की बहुत सी चीजों पर निर्भर करता है। Blogger में कम ऑप्शन तथा Plugins की Limitation होने के कारण हम वेबसाइट के Seo स्कोर नहीं बढ़ा पाते। यदि आपको थोड़ा बहुत SEO का नॉलेज है तो आप वेबसाइट का Seo कर सकते हो।

WordPress- WordPress में SEO की बात करे तो इसमें आपको बहुत सारे Free तथा Premium Plugins मिल जाते है जिनका यूज करके आप वेबसाइट के Seo को और अच्छा कर सकते है।

 

 

Final Conclusion-

यदि आप ब्लॉगिंग फिल्ड में नए हो तथा आपको ब्लॉगिंग के बारे में ज्यादा नॉलेज नहीं है और आपको फ्री डोमेन तथा होस्टिंग चाहिए तो आपके लिए ब्लॉगर प्लेटफार्म बेस्ट है। Blogger में आपको ज्यादा टेक्निकल नॉलेज की आवश्यकता नहीं होती है।

यदि इस वेबसाइट Hinditip.in की बात करे तो यह पहले शुरुआती 3 महीनो तक Blogger प्लेटफार्म पर थी। तथा बाद में इसे Self Hosted WordPress.org पर शिफ्ट कर दिया था।

तो दोस्तों उम्मीद करता हु आपको यह पोस्ट ” WordPress vs Blogger in Hindi ” पसंद आयी होगी आपको WordPress or Blogger से रिलेटेड प्रश्नो का जवाब मिल गया होगा। यदि आपका कोई भी Blogging से रिलेटेड या इसके अलावा भी कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट करके जरूर बताये। और आपको यह पोस्ट पसंद आयी है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे।

धन्यवाद

Redmi Note 7 Pro vs Real me 3 vs Samsung Galaxy M 30 Compare – Hindi Tip

0

Redmi Note 7 Pro vs Real me 3 vs Samsung Galaxy M30 Compare- इंडिया में विदेशी कम्पनी के निवेश के बाद मार्केट में मोबाइल फ़ोन ने कॉम्पिटशन बहुत ज्यादा बढ़ गया है। आज हम मार्केट में लॉन्च हुवे नए ट्रेडिंग मोबाइल Redmi Note 7 Pro, Real me 3, Samsung Galaxy M 30 का Compare करके जानेगे की कोनसा मोबाइल बेस्ट है तथा इनमे से बेस्ट बजट मोबाइल फ़ोन कोनसा है तो चलिए शुरू करते है।

Redmi Note 7 Pro vs Real me 3 vs Samsung Galaxy M30 Compare

इंडिया में हर साल हजारो मोबाइल फ़ोन लॉन्च होते है पर कस्टमबर हमेशा बेस्ट फीचर Ram, Storage, Battery, Processor, display तथा कम price वाले मोबाइल को खरीदना पसंद करता है। आज हम ऐसे ही तीन बेस्ट स्मार्ट फ़ोन जो अभी 2019 में काफी चर्चित है Redmi Note 7 Pro, Real me 3, Samsung Galaxy M 30 तीनो लेटेस्ट मोबाइल फ़ोन के बीच Compare करके देखेंगे की कोनसा मोबाइल बेस्ट ऑफ़ प्राइस है तथा हमारे लिए बेस्ट स्मार्ट फ़ोन है आदि के बारे में जानेगे।

 

Redmi Note 7 Pro vs Real me 3 vs Samsung Galaxy M 30 Compare-

Redmi Note 7 Pro Real me 3 Samsung Galaxy M 30
Manufacturer Mi (Xiaomi) Realme Samsung
Price ₹ 13,999 ₹ 10,999 ₹ 14,999
Performance Octa Core Octa Core Octa Core
Rear Camera 48 MP + 5 MP 13 MP + 2 MP 13 MP + 5 MP + 5 MP
Front Camera 13 MP 13 MP 16 MP
Ram 4GB/6GB 3GB/4GB 4GB/6GB
Storage 64GB/128GB 32GB/64GB 64GB/128GB
Display 16.0 cm 15.8 cm 16.26 cm
Battery 4000 mAh 4230 mAh 5000 mAh
Performance
Processor Qualcomm Snapdragon 675 MediaTek Helio P70 Samsung Exynos 7 Octa 7904
Processor Speed Octa Core 2.0 GHz Octa Core 2.1 GHz Octa Core 1.8 GHz
Graphics Adreno 612, 409 ARM Mali-G72, 271 Mali-G71 MP2
Ram 4GB/6GB 3GB/4GB 4GB/6GB
Camera
Primary Camera 48 MP + 5 MP 13 MP + 2 MP 13 MP + 5 MP + 5 MP
Front Camera 13 MP 13 MP 16 MP
Video Recording Full HD _ Full HD
Resolution FHD+, 2340 x 1080 Pixels HD+, 1520 x 720 Pixels 4128 x 3096 Pixels
Camera Feature Double Camera, Auto Flash, Face detection, Touch to focus, Panorama Mode, Video Recording, HDR Double Camera, Auto Flash, Face detection, Touch to focus, Panorama Mode, Video Recording, HDR Triple Camera, Auto Flash, Face detection, Touch to focus, Panorama Mode, Video Recording, HDR
Battery
Battery Type Li-Polymer Li-ion Li-Polymer
Battery Power 4000 mAh 4230 mAh 5000 mAh
Fast Charging Support Yes No Yes
Removal Battery No No No
 
Other Feature
Display Type IPS LCD IPS LCD Super Amoled
Connectivity Mobile Hotspot, Wifi(Wi-Fi 802.11, a/ac/b/g/n/n 5GHz), Bluetooth(5.0) Mobile Hotspot, Wifi(Wi-Fi 802.11, b/g/n/n 5GHz), Bluetooth4.2) Mobile Hotspot, Wifi(Wi-Fi 802.11, a/ac/b/g/n/n 5GHz), Bluetooth(5.0)
Network Support 4G. 3G, 2G 4G. 3G, 2G 4G. 3G, 2G
Volte Yes Yes Yes

 

See More-

Samsung Galaxy M 30 Review in Hindi : 5000 mAh Battery

1

अभी हाल ही में में Samsung ने इंडिया में Samsung Galaxy M Series के मोबाइल M 10, M 30 को इंडिया में लॉन्च कर दिया था। जो काफी अच्छे फीचर तथा Price के साथ इंडिया में धूम मचा रहे है। Samsung M Series का नया मोबाइल M 30 को भी लास्ट february में लॉन्च कर दिया था। M 30 बैटरी के मामले में काफी ज्यादा चर्चा में रहा है। Samsung Galaxy M 30 में केवल बैटरी ही अच्छी है या बाकि फीचर भी अच्छे है इन सब के बारे में तो हमे इसकी Price और Complete Review के बाद ही पता चलेगा की ये एक्चुअल में कैसा है? क्या ये मोबाइल oppo, vivo, xiaomi के AI Powered Camera फ़ोन को टकर दे पायेगा? क्या इस Price Range में ये मोबाइल बाकी की तुलना में अच्छा है? तथा इसमें क्या क्या फीचर है इन सब के बारे में जानेगे।

Samsung Galaxy M30 Review in hindi

Samsung Galaxy M30 Specification & Feature-

Samsung M30 मोबाइल में 5000 mAh बैटरी काफी ज्यादा हाईलाइट बनी हुई है। Tech Review के अनुसार M30 में 5000 mAh बैटरी को Best battery in Budget Price माना है। पर मोबाइल में बैटरी ही नहीं सब हार्डवेयर, कैमरा, प्रोसेसर भी अच्छे होने चाहिए

 

Product Name Samsung Galaxy M30
Colour Gradation Black, Gradation Blue
Display Size  6.4 inch.
Display Type 1080 * 2280
Camera Feature Triple Camera, Auto Flash, Face detection, Touch to focus, Panorama Mode, Video Recording, HDR
Rear Camera Megapixel 13 + 5 + 5
Front Camera Megapixel 16
Video stabilization 1080p, 30fps
Internal Storage 64GB / 128GB
Maximum Removable Storage 512GB
Battery Type Li-Polymer
Battery Power 5000 mAh
Fast Charging Support Yes
Processor Type Exynos 7904
Processor Speed 1.8GHz
Processor Cores Octa Core
GPU Mali-G71 MP2
Ram 4GB, 6 GB
Finger Print Sensor  Yes
Face unlock  Yes
Weight 175 grams
Network Support 2g, 3g, 4g Support

Samsung Galaxy Price In India-

Samsung Galaxy M30 मोबाइल मार्केट में दो वेरिएन्ट में उपलब्ध है। पहले में आपको 4GB RAM और 64GB स्टोरेज के साथ ₹14990 में उपलब्ध है। तथा दूसरा वेरिएन्ट में आपको 6GB RAM और 128GB स्टोरेज के साथ ₹17990 में उपलब्ध है। अभी तक इसे ऑफलाइन मार्केट में यह मोबाइल नहीं आया है इसे आप ऑनलाइन Amazon वेबसाइट से Buy कर सकते है।

Samsung Galaxy M30 (4GB+64GB)  –  Buy Now 

Samsung Galaxy M30(6GB+128GB)  –  Buy Now  

Samsung Galaxy M30 Buy Now

Incognito Mode क्या है क्या यह Private Search के लिए Safe है?

0

Incognito Mode kya hai- हेलो दोस्तों! Hindi Tip ब्लॉग में आपका स्वागत है। इस पोस्ट में हम Incognito Mode kya hai, Incognito Mode kaise kaam karta hai, Incognito Mode ko browser me open kaise kare, Incognito Mode meaning in Hindi, Kya Incognito Mode Private search ke liye Safe hai? आदि ऐसे ही Incognito Mode के बारे में इंटरेस्टिंग Facts के बारे में जानेगे। तो चलिए शुरू करते है।

private browser incognito mode kya hai

इंटरनेट पर कुछ भी प्राइवेट Search करने के लिए और Surfing के लिए सभी मोबाइल तथा कंप्यूटर ब्राउज़र में एक प्राइवेट विंडो होता है जिसे हम प्राइवेट ब्राउज़र या Incognito Mode कहते है। हम जब भी किसी ब्राउज़र में किसी टॉपिक के बारे में सर्च करते है तो ब्राउज़र की कूकीज हमारे ब्राउज़र में हम जो भी सर्च करते है उनको सेव कर देती है तथा सर्च बार में वो टॉपिक हमारे सामने बार बार आता है।

तो ऐसे में आप ब्राउज़र में ऐसी चीज के बारे में सर्च कर रहे हो जो प्राइवेट है तथा आप नहीं चाहते की वो टॉपिक किसी दूसरे के सामने आये तो इसके लिए हम प्राइवेट मोड का उपयोग कर सकते है।

 

 

Private ya Incognito Browser kya hai-

Incognito या Private Mode का हिंदी में अर्थ गुप्त होता है। हर ब्राउज़र में इसे अलग अलग नाम से जाना जाता है जैसे गूगल ब्राउज़र में Incognito Mode, तथा बिंग याहो ओपेरा ब्राउज़र में इसे प्राइवेट मोड या प्राइवेट ब्राउज़र के नाम जाना जाता है।

Incognito Mode ब्राउज़र में History और Browser Cache ऑप्शन को Disable कर देता है जिससे हम Incognito Mode को इनेबल करके कुछ भी सर्च करते है तो वो History हमारे डिवाइस के ब्राउज़र में सेव नहीं होती है। मतलब हम इंटरनेट पर सर्च डाटा को लोकल डिवाइस में सेव किये बिना इंटरनेट सर्चिंग कर सकते है।

Local Device Save से मेरा मतलब यह है की हम जब ब्राउज़र में किसी वेबसाइट में विजिट करते है तो उस वेबसाइट से History, cookies, dangerous फाइल हमारे कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस में सेव हो जाता है। तो ऐसे में आप चाहते हो की वो History, Cache, cookies आपके कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस में सेव न हो तो इसके लिए आप Incognito Mode का इस्तेमाल कर सकते है।

 

 

Incognito Mode Kaam Kaise Karta hai-

आपने कभी यह नोटिस किया होगा की हम जब नॉर्मल ब्राउज़र में इंटरनेट पर किसी वेबसाइट जैसे- फेसबुक, ट्विटर आदि में पहली बार हमे लॉगिन होना पड़ता है तथा बाद में हमे बार बार लॉगिन होने की आवश्यकता नहीं होती है। क्योकि ब्राउज़र की कूकीज उस पासवर्ड तथा डिटेल्स को ब्राउज़र में सेव कर देता है तथा हम दुबारा उस वेबसाइट को विजिट करते है तो हमे वापस डिटेल्स डालने की जरूरत नहीं होती है।

Incognito Mode को ओपन करने के बाद ब्राउज़र की कूकीज, History, cache आदि Disable हो जाती है। जिससे हम कुछ भी इंटरनेट पर सर्च करते है तो वो डाटा हमारे डिवाइस के ब्राउज़र में सेव नहीं होता है। पर हम Incognito Mode में जिस वेबसाइट को विजिट करते है, इंटरनेट पर क्या देख रहे है उन सब की जानकारी इंटरनेट ऑपरेटर को होती है।

 

 

Kya Incognito Mode Private search ke liye Safe hai?

बहुत से लोगो को यह गलतफैमी होती है की Private या Incognito Browser में हम कुछ भी सर्च कर सकते है हम ब्राउज़र में क्या सर्च कर रहे है उसके बारे में किसी को पता नहीं होता तथा हमे Incognito mode में कोई Track नहीं कर सकता है। अगर आप भी ऐसा सोचते है तो आपको बता दे आप गलत सोच रहे है। आप जो भी  Incognito mode में सर्च करते है वो आपके डिवाइस में सेव नहीं होता है पर आपके Internet Service Provider तथा उस वेबसाइट से छुपाया नहीं जाता है जिन वेबसाइट को आप विजिट करते हो।

आप नॉर्मल या प्राइवेट किसी भी ब्राउज़र का यूज कर रहे हो और उस पर जो भी सर्च कर रहे हो उसकी जानकारी आपके Internet Service Provider को होती है। वो आपको track कर सकता है।

 

 

Browser में Incognito Mode Enable कैसे करे-

Private या Incognito ब्राउज़र को ओपन करने का अलग अलग ब्राउज़र में अलग अलग तरीका होता है। यहा पर हम पॉपुलर ब्राउज़र जैसे- Google Chrome, Mozilla Firefox आदि में Incognito या प्राइवेट ब्राउज़र को कैसे ओपन करते है के बारे में बताएगे।

Google Chrome में Private Browser ओपन करना-

Google Chrome में Private Browser को Incognito Windows के नाम से जाना जाता है। इसमें प्राइवेट ब्राउज़र को ओपन करने के लिए सबसे पहले ब्राउज़र के राइट साइड के टॉप कॉर्नर में 3 dotes पर क्लिक करना है तथा 3rd नम्बर पर ” New Incognito Windows ” ऑप्शन पर क्लिक करके Incognito ब्राउज़र को ओपन कर सकते है। या आप शॉर्टकट की ‘ ctrl + Shift + N को एक साथ प्रेस करके ब्राउज़र को ओपन कर सकते है।

Mozilla Firefox में Private Browser ओपन करना-

Mozilla Firefox में Private Browser को Private Windows के नाम से जाना जाता है। Mozilla Firefox में प्राइवेट ब्राउज़र को ओपन करने के लिए सबसे पहले ब्राउज़र के राइट साइड के टॉप कॉर्नर में 3 dotes पर क्लिक करना है तथा 4th नम्बर पर ” New Private Windows ” ऑप्शन पर क्लिक करके प्राइवेट ब्राउज़र को ओपन कर सकते है। या आप शॉर्टकट की ‘ ctrl + Shift + P ‘ को एक साथ प्रेस करके ब्राउज़र को ओपन कर सकते है।

 

निष्कर्ष-

तो दोस्तों लगभग ब्राउज़र में प्राइवेट ब्राउज़र को ओपन करने का लगभग सैम प्रोसेस रहता है। यदि आप किसी ब्राउज़र में Private Browser को ओपन नहीं कर पा रहे हो तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है।

तो दोस्तों उम्मीद करता हु आपको यह पोस्ट ” Private Browser ya Incognito Mode Kya Hai or Kaam Kaise Karta Hai ” पसंद आयी होगी आपको Private browser से रिलेटेड प्रश्नो का जवाब मिल गया होगा। यदि आपका कोई भी Private browser से रिलेटेड या इसके अलावा भी कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट करके जरूर बताये। और आपको यह पोस्ट पसंद आयी है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे।

धन्यवाद

WordPress Me Google Analytics Code ko Kaise Add Kare

0

WordPress Me Analytics Code ko Kaise Add Kare- हेलो दोस्तों! Hindi Tip ब्लॉग में आपका स्वागत है। इस पोस्ट में हम WordPress Me Analytics Code ko Kaise Add Kare, How to Add Google Analytics Code In WordPress, Google Analytics kya hai आदि के बारे में जानेगे तो चलिए शरू करते है।

Wordpress Me Google Analytics Code ko Kaise Add Kare

हमने इससे पहले वाली पोस्ट में जाना Google Analytics tool kya hai or Account kaise Banaye के बारे में जाना था। यदि आप Google Analytics Account कैसे बनाये के बारे में जानना चाहते है तो आप वो पोस्ट पढ़ सकते है उसमे हमने Google Analytics क्या है तथा अकाउंट कैसे बनाते है के बारे में विस्तार से समझाया है। इस पोस्ट में हम WordPress Me Google Analytics Code ko Kaise Add Kare के बारे में जानेगे।

Google Analytics Account kaise Banaye-Full Guide

यदि आप ब्लॉगिंग करते है तथा आप ब्लॉग को एनालाइज करना चाहते है तो Google Analytics tool बहुत ही अच्छा Analytics टूल है। इस टूल की मदद से हम अपने वेबसाइट पर कितना ट्रैफिक आ रहा है, ब्लॉग की Bounse Rate क्या है, किस कीवर्ड से ट्रैफिक आ रहा है, तथा और कुछ भी Google Analytics tool की मदद से जान सकते है। 

 

 

WordPress Me Google Analytics Code Add Karna-

Google Analytics क्या है- Google Analytics वेबसाइट Google का ही फ्री सर्विस है। जिसकी मदद से हम अपने वेबसाइट को फ्री में मॉनिटर तथा लाइव tracking कर सकते है। यदि आप वेबसाइट के एडमिन हो तो आप इस टूल मदद से वेबसाइट पर आने वाले विज़िटर की जानकारी ले सकते हो। आज के समय में competitors से आगे निकलने के लिए तथा Search Engene renking incrase करने में Google Analytics काफी ज्यादा हेल्प कर सकता है।

Google Analytics टूल की मदद से हम अपने वेबसाइट के बारे में बहुत कुछ जान सकते है जैसे- वेबसाइट पर ट्रैफिक कितना है, विजिटर किस कीवर्ड से आ रहा है, बाउंस रेट क्या है, टोटल पेज व्यू कितने है, लाइव विज़िटर कितने है तथा इनके अलावा भी हम बहुत कुछ जान सकते है।

 

 

Google Analytics Account Kaise Banaye-

Google Analytics अकाउंट कैसे बनाते है इसके बारे में हमने पोस्ट लिख चुके है यदि आपको Google Analytics अकाउंट बनाने के बारे में जानना है तो आप यहा पर क्लिक करके Google Analytics Account kaise Banaye के बारे में जान सकते है।

Google Analytics Code ko Theme Footer me Paste Karke-

इस मेथड में हम Google Analytics कोड को हमारे वेबसाइट के थीम फुटर में कोड को पेस्ट करके Google Analytics से वर्डप्रेस ब्लॉग को कनेक्ट कर सकते है।

Step 1- Copy Google Analytics Code –

1- सबसे पहले Google Analytics वेबसाइट में लॉगिन करना है। तथा आपको Google Analytics की तरफ से एक कोड प्रोवाइड किया जाता है जिसे आपके ब्लॉग पर लगाना होता है। Google Analytics कोड को कॉपी करने के लिए आपको Admin >>> Tracking Info >>> Tracking Code पर जाना है तथा अब यहा पर आपको वेबसाइट Google Analytics Tracking कोड को कॉपी कर लेना है। जैसा की नीचे फोटो में देख सकते है।

google analytics code

 

 

Step 2- Google Analytics Code ko Theme Footer me Paste karna-

1- अब अपनी WordPress वेबसाइट के Dashboard पर आना है।
2- अब हमे Google Analytics कोड को वेबसाइट में </body> टैग के नीचे पेस्ट करना है थीम के फुटर में </body> टैग को ढूंढ़कर वहा पेस्ट कर सकते है।
कोड को फुटर में पेस्ट करने के लिए पहले Appearance >>> Theme Editor >>> Footer.php में जाना है तथा थोड़ा नीचे जाने के बाद आपको ” </body> ” टैग दिखेगा इस टैग के पहले जो आपने Google Analytics html code को कॉपी किया था उसे पेस्ट कर देना है, तथा ” Save Changes ” पर क्लिक कर देना है। 
google analytics code ko WordPress me add kaise kare

तो अब आपका Google Analytics अकाउंट आपकी साइट से कनेक्ट होने में लगभग 15-20 मिनट ले सकता है। Analytics अकाउंट वेरीफाई होने के बाद आप Google Analytics अकाउंट में लॉगिन करके अपने वेबसाइट को लाइव एनेलाइज कर सकते है, वेबसाइट पर ट्रैफिक कितना है, किस कीवर्ड से आ रहा है, अभी कितने यूजर आपकी साइट पर लाइव है आदि के बारे में जान सकते है।

 

 

तो दोस्तों! आशा करता हु आपको ” WordPress Me Google Analytics Code ko Kaise Add Kare ” पोस्ट पसंद आया होगा। अगर पोस्ट अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे और इस पोस्ट से संबंधित या इस पोस्ट के अलावा कोई भी सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करके जरूर बताये।

धन्यवाद!

0FansLike
0FollowersFollow
0FollowersFollow
0FollowersFollow